You are currently viewing Hanuman Chalisa Lyrics With Meaning In Hindi: हनुमान चालीसा का पाठ अर्थ सहित

Hanuman Chalisa Lyrics With Meaning In Hindi: हनुमान चालीसा का पाठ अर्थ सहित

Hanuman Chalisa Lyrics With Meaning In Hindi: हनुमान चालीसा गोस्वामी तुलसीदास द्वारा लिखी एक ऐसी काव्यात्मक कृति है।

जिसमें प्रभु श्री राम के भक्त हनुमान के गुणों व कार्यों का 40 चौपाइयों में वर्णन किया गया है।।

Hanuman chalisa lyrics in Hindi

हनुमानजी भगवान शंकर के 11वे रूद्र अवतार हैं। हनुमान जी ने वानर जाति में जन्म लिया। उनकी माता का नाम अंजना (अंजनी) और उनके पिता वानर राज केशरी हैं।

इसी कारण इन्हें अंजनी पुत्र और केसरी नंदन आदि नामों से पुकारा जाता है।

Hanuman chalisa

हनुमान जी के कुल 12 नाम है जिनका वर्णन नीचे किया गया है।

  1. हनुमान
  2. अंजनी सुत
  3. वायु पुत्र
  4. महाबल
  5. रामेष्ठ
  6. फाल्गुण सखा
  7. पिंगाक्ष
  8. अमित विक्रम
  9. उदधिक्रमण
  10. सीता शोक विनाशन
  11. लक्ष्मण प्राण दाता
  12. दशग्रीव दर्पहा

Hanuman chalisa in Hindi

हनुमान चालीसा में 40 चौपाइयों का वर्णन किया गया है जो पढ़ने में काफी सरलतम है जिसे आसानी से कोई भी पड़ सकता है इस आर्टिकल में आप हनुमान चालीसा की चौपाइयों को अर्थ सहित जानेंगे। तो शुरू करते हैं इस आर्टिकल को

Hanuman Chalisa Lyrics With Meaning In Hindi: हनुमान चालीसा का पाठ अर्थ सहित

।।दोहा।।

श्री गुरु चरण सरोज रज, निज मन मुकुरु सुधारि। बरनऊं रघुवर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि।।

हिंदी अर्थ- मैं अपने मन दर्पण को श्री गुरु जी के चरण धूलि से पवित्र कर श्री राम भगवान के यश का गुणगान करता हूं। जिसमें धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष चारों फलों की प्राप्ति होती है।

बुद्धिहीन तनु जानिके, सुमिरो पवन-कुमार। बल बुद्धि विद्या देहु मोहिं, हरहु कलेश विकार।।

हिंदी अर्थ- हे पवनपुत्र मैं आपका स्मरण करता हूं आप जानते ही हैं कि मेरा शरीर और बुद्धि निर्बल है मुझे शारीरिक बल सद्बुद्धि आप ध्यान दीजिए और मेरे दुखों व दोषों का नाश कीजिए।।

।।चौपाई।।

               जय हनुमान ज्ञान गुन सागर।                     जय कपीस तिहुं लोक उजागर।।

हिंदी अर्थ- हे वीर हनुमान जी आपकी सदा जय हो। आप तो ज्ञान व गुणों के समुद्र हैं। आपकी कृति तो तीनों लोगों में विख्यात है

रामदूत अतुलित बल धामा।
अंजनि-पुत्र पवनसुत नामा।।

हिंदी अर्थ- हे पवनसुत अंजनी पुत्र! श्री रामदूत! आपके सामान दूसरा कोई बलवान नहीं है।।

महाबीर बिक्रम बजरंगी।
कुमति निवार सुमति के संगी।।

हिंदी अर्थ- हे महावीर बजरंगबली आप में ऐसा विशेष पराक्रम है। कि आप अपने भक्तों की दुर्बुद्धि एवं बुरे विचारों को समाप्त करके उनके हृदय में अच्छे ज्ञान एवं विचारों को प्रेरित कर सकते हैं।।

कंचन बरन बिराज सुबेसा।
कानन कुंडल कुंचित केसा।।

हिंदी अर्थ- हे पवनपुत्र आपका रंग कंचन जैसा है तथा आपके सुंदर वस्त्र और कानों में कुंडल व घुंघराले बाल आप की शोभा बढ़ा रहे हैं।।

हाथ बज्र औ ध्वजा बिराजै।
कांधे मूंज जनेऊ साजै।।

हिंदी अर्थ- आपके हाथों में वज्र और ध्वजा है तथा आपके कंधे पर मूँज की जनेऊ आप की शोभा बढ़ा रही है।।

संकर सुवन केसरीनंदन।
तेज प्रताप महा जग बन्दन।।

हिंदी अर्थ- हे केसरी नंदन आप शंकर के अवतार हैं यह सृष्टि आप ही की तो है। और आपकी ही उपासना सारा संसार करता है।।

विद्यावान गुनी अति चातुर।
राम काज करिबे को आतुर।।

हिंदी अर्थ- हे महावीर आप प्रकांड विद्या निधान है, और अत्यंत कार्य कुशल होकर सदा प्रभु श्री राम के कार्य करने के लिए उत्साहित रहते हैं।।

प्रभु चरित्र सुनिबे को रसिया।
राम लखन सीता मन बसिया।।

हिंदी अर्थ- प्रभु श्री राम की कथा या गुणगान सुनने में आप आनंद रस प्राप्त करते हैं। आपके हृदय में श्री राम, माता सीता व लक्ष्मण सहित निवास करते हैं।।

सूक्ष्म रूप धरि सियहिं दिखावा।
बिकट रूप धरि लंक जरावा।।

हिंदी अर्थ- आपने अपना सूक्ष्म रूप धारण कर श्री राम और माता सीता को दिखाया और विशाल रूप धारण कर रावण की लंका को जला दिया।।

भीम रूप धरि असुर संहारे।
रामचंद्र के काज संवारे।।

हिंदी अर्थ- आपने भीम के समान विशाल रूप धारण करके राक्षसों का संहार किया। और भगवान श्री राम के कार्यों में सहयोग देने वाले सर्वप्रथम आप ही तो थे।।

लाय सजीवन लखन जियाये।
श्रीरघुबीर हरषि उर लाये।।

हिंदी अर्थ- आपने संजीवनी बूटी लाकर लक्ष्मण जी को नया जीवनदान दिया। और इस कार्य से प्रसन्न होकर श्रीराम ने आपको हृदय से लगा लिया।।

रघुपति कीन्ही बहुत बड़ाई।
तुम मम प्रिय भरतहि सम भाई।।

हिंदी अर्थ- उस समय प्रभु श्री राम ने आपकी बड़ी प्रशंसा की, और कहा कि जितना मुझे भरत प्रिय है उतना ही तुम भी मुझे प्रिय हो मैं तुम्हें भारत के समान अपना भाई मानता हूं।।

सहस बदन तुम्हरो जस गावैं।
अस कहि श्रीपति कंठ लगावैं।।

हिंदी अर्थ- श्री राम ने आपको यह कहकर अपने हृदय से लगा लिया कि तुम्हारा यश और कृति हजारों मुखों से सराहनीय है।।

सनकादिक ब्रह्मादि मुनीसा।
नारद सारद सहित अहीसा।।

हिंदी अर्थ- हे महावीर श्री सनत्कुमार, श्री सनातन श्री सनक, श्री सनन्दन, ब्रह्मा आदि देवता, शेषनाग जी सब आपका गुणगान करते हैं।।

जम कुबेर दिगपाल जहां ते।
कबि कोबिद कहि सके कहां ते।।

हिंदी अर्थ- हे पवन पुत्र कुबेर, यम तथा सभी दिशाओं के रक्षक कवि, विद्वान कोई भी आपके यस का पूर्ण तरह वर्णन नहीं कर सकते।।

तुम उपकार सुग्रीवहिं कीन्हा।
राम मिलाय राज पद दीन्हा।।

हिंदी अर्थ- हे महा बलशाली हनुमान आप ही ने तो सुग्रीव जी को प्रभु श्रीराम से मिलवाया। और श्री राम की कृपा से उन्हें खोया हुआ राज्य वापस मिला।।

तुम्हरो मंत्र बिभीषन माना।
लंकेस्वर भए सब जग जाना।।

हिंदी अर्थ- आपके परामर्श को रावण के भाई विभीषण ने माना। जिसके कारण वे लंका के राजा बने इसको तो सारा संसार ही जानता है।।

जुग सहस्र जोजन पर भानू।
लील्यो ताहि मधुर फल जानू।।

हिंदी अर्थ- जो सूर्य हजारों योजन की दूरी पर है, जहां तक पहुंचने में हजारों युग लग जाते हैं। जिसकी गर्मी को कोई सहन नहीं कर सकता, उस सूर्य को आपने मीठा फल समझकर निगल लिया।।

प्रभु मुद्रिका मेलि मुख माहीं।
जलधि लांघि गये अचरज नाहीं।।

हिंदी अर्थ- हे पवनपुत्र आपने श्री रामचंद्र जी की अंगूठी मुंह में रखकर एक विशाल समुद्र को पार किया। परंतु आपके लिए यह कार्य  कठिन नहीं था।।

दुर्गम काज जगत के जेते।
सुगम अनुग्रह तुम्हरे तेते।।

हिंदी अर्थ- इस संसार के सभी कठिन से कठिन कार्य वे सभी आपकी कृपा से सहज और पूर्ण हो जाते हैं।।

राम दुआरे तुम रखवारे।
होत न आज्ञा बिनु पैसारे।।

हिंदी अर्थ- हे महाबली हनुमान आप श्री रामचंद्र जी के महल के द्वार के रखवाले हैं। आपकी आज्ञा के बिना उस द्वार में कोई भी प्रवेश नहीं कर सकता।।

अर्थात: श्री राम को प्रसन्न करने से पहले आपको प्रसन्न करना जरूरी है।।

सब सुख लहै तुम्हारी सरना।
तुम रक्षक काहू को डर ना।।

हिंदी अर्थ- आप की शरण में आने वाले व्यक्ति को सभी सुख प्राप्त होते हैं। और आप अपने भक्तों की सदा रक्षा करते हैं।।

आपन तेज सम्हारो आपै।
तीनों लोक हांक तें कांपै।।

हिंदी अर्थ- हे पवनपुत्र आपके सिवाय आपके वेग को कोई दूसरा नहीं रोक सकता आपकी गर्जना से तीनों लोक हिल जाते हैं।

भूत पिसाच निकट नहिं आवै।
महाबीर जब नाम सुनावै।।

हिंदी अर्थ- हे महावीर हनुमान आपका नाम सुनते ही भूत प्रेत आदि सब भाग जाते हैं।

नासै रोग हरै सब पीरा।
जपत निरंतर हनुमत बीरा।।

हिंदी अर्थ- आपके नाम का निरंतर जाप करने वाले के सभी रोग नष्ट हो जाते हैं और वह सभी दुखों से दूर हो जाता है।

संकट तें हनुमान छुड़ावै।
मन क्रम बचन ध्यान जो लावै।।

हिंदी अर्थ- जो भी आपको मन-वचन-कर्म से पूजता है उसके सब संकटों को आप दूर कर देते हैं।।

सब पर राम तपस्वी राजा।
तिन के काज सकल तुम साजा।।

हिंदी अर्थ- तपस्वी प्रभु श्रीराम सबसे श्रेष्ठ हैं उनके सभी कार्यों को आपने सरलता से पूर्ण किया है।।

और मनोरथ जो कोई लावै।
सोइ अमित जीवन फल पावै।।

हिंदी अर्थ- हे महावीर हनुमान जिस पर आपकी कृपा होगी उस पर किसी प्रकार का दुख नहीं होगा। उसके जीवन में तो आनंद ही आनंद होगा।।

चारों जुग परताप तुम्हारा।
है परसिद्ध जगत उजियारा।।

हिंदी अर्थ- आपका यस चारों युगों मैं विद्यमान है सारे संसार में आपकी कृति सभी जगह पर फैली हुई है सारा जगत आपका उपासक है।।

साधु-संत के तुम रखवारे।
असुर निकंदन राम दुलारे।।

हिंदी अर्थ- हे महाबली आप साधु-संतों और धर्म के रक्षक हैं तथा आप दुष्टजनों का नाश करते हैं। और आप श्री रामचंद्र जी को अति प्रिय है।।

अष्ट सिद्धि नौ निधि के दाता।
अस बर दीन जानकी माता।।

हिंदी अर्थ- हे पवनपुत्र आपको माता सीता से ऐसा वरदान मिला हुआ है जिससे आप किसी को भी आठों सिद्धियां और नौ निधियाॅ अर्थात सब प्रकार की संपत्ति दे सकते हैं।।

Hanuman Chalisa Lyrics With Meaning In Hindi : हनुमान चालीसा का पाठ अर्थ सहित

माता सीता द्वारा हनुमान जी को वरदान स्वरूप दी गई आठ सिद्धियां इस प्रकार हैं।

  • अणिमा- सादर अदृश्य होकर कठिन से कठिन पदार्थ में प्रवेश कर जाता है।
  • महिमा- योगी अपने को बहुत बड़ा बना लेता है।
  • गरिमा- साधक अपने को चाहे जितना भारी बना लेता है।
  • लघिमा- साधक जितना चाहे उतना हल्का बन जाता है।
  • प्राप्ति- इच्छित पदार्थ की प्राप्ति होती है।
  • प्राकाम्य- इच्छा करने पर साधक पृथ्वी में समा सकता है आकाश में उड़ सकता है।
  • ईशित्व- सब पर शासन की सामर्थ्य प्राप्त हो जाती है।
  • वशित्व- दूसरों को वश में क्या जाता है।

माता सीता द्वारा हनुमान जी को दी गई नौ निधियाॅ इस प्रकार हैं।

पद्म, महापद्मा, शंख, मकर, कच्छप, मुकुंद, कुंन्द, नील, बच्र्च।।

राम रसायन तुम्हरे पासा।
सदा रहो रघुपति के दासा।।

हिंदी अर्थ- आपके पास प्रभु श्री राम नाम की सबसे बड़ी औषधि है। आप सदा प्रभु श्री राम की शरण में रहते हैं तभी तो आप रोग रहित हैं।।

तुम्हरे भजन राम को पावै।
जनम-जनम के दुख बिसरावै।।

हिंदी अर्थ- आप का भजन करने वाले व्यक्ति को भगवान श्री राम के दर्शन होते हैं और उनके जन्म जन्मांतर के दुख दूर हो जाते हैं।।

अन्तकाल रघुबर पुर जाई।
जहां जन्म हरि-भक्त कहाई।।

हिंदी अर्थ- आपके जाप के प्रभाव से प्राणी अंत समय में श्री रघुनाथ धाम को जाता है। यदि वह मृत्युलोक में जन्म लेते हैं तो श्री हरि भक्त कहलाते हैं।।

और देवता चित्त न धरई।
हनुमत सेइ सर्ब सुख करई।।

हिंदी अर्थ- पवन पुत्र आपकी पूजा करने से हमें सब प्रकार की सुख मिलते हैं, फिर किसी देवता की पूजा करने की हमें आवश्यकता नहीं रहती।।

संकट कटै मिटै सब पीरा।
जो सुमिरै हनुमत बलबीरा।।

हिंदी अर्थ- आपका नाम लेने से मनुष्य के सारे कष्ट सारी दुविधाएं मिट जाती है। और उन्हें कभी कष्ट भी नहीं होता।।

जय जय जय हनुमान गोसाईं।
कृपा करहु गुरुदेव की नाईं।।

हिंदी अर्थ- हे पवनपुत्र आपकी सदा जय हो, जय हो, जय हो। आप मुझ पर गुरुजी के समान कृपा कीजिए ताकि मैं सदा आपकी पूजा कर सकूं।

जो सत बार पाठ कर कोई।
छूटहि बंदि महा सुख होई।।

हिंदी अर्थ- हनुमान चालीसा का सौ बार पाठ करने से हनुमान जी की कृपा से वह बंदी जीवन यानी कारागार से छूटकर महा सुख प्राप्त करता है।।

जो यह पढ़ै हनुमान चालीसा।
होय सिद्धि साखी गौरीसा।।

हिंदी अर्थ- जो भी मनुष्य हनुमान चालीसा को पड़ेगा वह अवश्य ही सफलता प्राप्त करेगा।।

तुलसीदास सदा हरि चेरा।
कीजै नाथ हृदय मंह डेरा।।

हिंदी अर्थ- हे वीर हनुमान जी तुलसीदास सदा ही श्री राम का भक्त है। इसलिए आप उसके हृदय में निवास कीजिए।।

।।दोहा।।

पवन तनय संकट हरन, मंगल मूरति रूप।
राम लखन सीता सहित, हृदय बसहु सुर भूप।।

हिंदी अर्थ- हे पवनपुत्र आप सभी संकटों को हरने वाले हैं आप मंगल मूर्ति वाले हैं। मेरी आपसे प्रार्थना है कि आप सदा श्री राम श्री जानकी एवं लक्ष्मण जी सहित आप मेरे हृदय में निवास करें।।

जय श्री राम जय हनुमान 🙏

Hanuman Chalisa lyrics with meaning In Hindi: हनुमान चालीसा का पाठ अर्थ सहित

Conclusion (निष्कर्ष)

Hanuman Chalisa lyrics with meaning In Hindi: इस आर्टिकल में आपने हनुमान चालीसा के बारे में जानकारी और संपूर्ण हनुमान चालीसा के पाठ को अर्थ सहित जाना। हनुमान चालीसा एक ऐसा पाठ है जिसे हर व्यक्ति को याद होना चाहिए और प्रत्येक दिन स्नान करने के बाद इस पाठ को पढ़ना चाहिए।

आशा करता हूं आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा इस आर्टिकल को आप फेसबुक व्हाट्सएप या अन्य किसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जरूर शेयर करें।

आप हमारे यूट्यूब चैनल‌ Fullonfacts को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं जहां आपको इंटरेस्टिंग,अमेजिंग और रहस्यमई तथ्य के बारे में वीडियो मिलेंगे।

यह भी पढ़ें

Pankaj Joshi

हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम पंकज जोशी है, में उत्तराखंड के लालकुआं शहर में रहता हूँ ! यह ब्लॉग (FactZilla) मैंने अमेजिंग फैक्ट्स एक्स्प्लोर करने और लोगो को इनके बारे में बताने के लिए बनाया है ! मेरे बारे में और जानने के लिए हमारे About Us पेज को विजिट कर सकते है!

Leave a Reply

This Post Has 2 Comments

  1. Deepak joshi

    जय सियाराम जय हनुमान

  2. Bipin

    Jai shree ram