You are currently viewing मां दुर्गा की रोचक कहानी निबंध: Durga Puja Essay In Hindi

मां दुर्गा की रोचक कहानी निबंध: Durga Puja Essay In Hindi

Durga Puja Essay In Hindi: दुर्गा पूजा भारत का एक ऐसा त्यौहार जो नवरात्रि के पांचवे दिन से आरंभ होता है और नवमी से लेकर दसमीं तक मनाया जाता है।

इस त्यौहार को बंगाल, ओड़िशा, त्रिपुरा, पूर्वी उत्तर प्रदेश समेत देश के अन्य भागों में बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है।

Durga Puja

आज के इस आर्टिकल में आप दुर्गा पूजा के बारे में संपूर्ण जानकारी जानेंगे जिसे आप निबंध के रूप में भी लिख सकते हैं।

Durga Puja Essay in Hindi: दुर्गा पूजा पर सरल शब्दों में निबंध

प्रस्तावना

भारत में हिंदू धर्म में जितने त्यौहार मनाए जाते है इतने किसी भी धर्म में नहीं बनाए जाते। दुर्गा पूजा पर्व भी हिंदुओं का एक प्रसिद्ध त्यौहार है।

यह पर्व संपूर्ण भारत में धूमधाम से मनाया जाता है लेकिन इसकी अलग ही रौनक पश्चिम बंगाल, उड़ीसा, और त्रिपुरा राज्य में अधिक देखने को मिलती है।

भारत के बाकी राज्यों में दुर्गा पूजा को नवरात्रि के रूप में 9 दिनों तक मनाया जाता है लेकिन पश्चिम बंगाल, उड़ीसा और त्रिपुरा में इसे नवरात्रि के पांचवे दिन से प्रारंभ करते हैं।

दुर्गा पूजा का महत्व

हिंदू धर्म में दुर्गा पूजा का एक विशेष महत्व है। क्योंकि देवी दुर्गा को सबसे शक्तिशाली देवी के रूप में जाना जाता है।

पौराणिक कथाओं के अनुसार महिषासुर नामक एक असुर ने ब्रह्मा जी की घोर तपस्या कर एक ऐसा वरदान मांगा कि कोई भी देवता और दानव उस पर विजय प्राप्त न कर सके।

इसके बाद महिषासुर ने अपनी शक्तियों का स्वर्ग से लेकर पृथ्वी तक शक्तियों का दुरुपयोग किया। और इंद्र को प्राप्त कर स्वर्ग लोक पर कब्जा कर लिया।

महिषासुर के आतंक से परेशान होकर सभी देवता त्रिमूर्ति ब्रह्मा,विष्णु और महेश के पास सहायता के लिए पहुंचे लेकिन ब्रह्मा जी के वरदान के कारण कोई भी देवता महिषासुर को पराजित नहीं कर पाया।

इसके बाद सभी देवताओं ने अपनी दैविक शक्तियों से देवी दुर्गा का सृजन किया जिन्हें शक्ति और माता पार्वती के नाम से भी जाना जाता है।

इसके बाद देवी दुर्गा और महिषासुर के बीच 9 दिनों तक युद्ध चला और दसवें दिन मां दुर्गा ने महिषासुर का अंत कर दिया जिस कारण दसवें दिन को दशमी के नाम से भी जाना जाता है।

हालांकि इस दिन श्री राम ने रावण का भी वध किया था। इसलिए देवी दुर्गा को सबसे शक्तिशाली देवी माना जाता है।।

दुर्गा पूजा मनाने के कारण

दुर्गा पूजा को भारतवर्ष में हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है क्योंकि इस पर्व को मनाने के निम्नलिखित कारण है।

1. हिन्दू कैलंडर के अनुसार दुर्गा पूजा साल में दो बार अश्विन और चैत्र के महीनें में होती है।

2. मां दुर्गा सभी देवियों में सबसे शक्तिशाली देवी मानी जाती है।

3. दुर्गा पूजा को नवरात्रि के 5 वें दिन से प्रारंभ होकर दसमीं तक मनाई जाती है।

4. मां दुर्गा को बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक भी माना जाता है।

5. ऐसा कहा जाता है कि नवरात्रि में मां दुर्गा स्वयं पृथ्वी पर निवास करती है। जिस वजह से दुर्गा पूजा का महत्व नवरात्रि में और भी अधिक बढ़ जाता है।

6. मां दुर्गा की पूजा करने से सुख समृद्धि बनी रहती है और मनुष्य के सभी कष्टों का निवारण हो जाता है।

7. दुर्गा पूजा करने से मनुष्य के अंदर एक धनात्मक ऊर्जा का उदय होता है जिससे उसे हर कार्य करने में प्रेरणा मिलती है।

दुर्गा पूजा पर्व को कैसे मनाते हैं।

दुर्गा पूजा पर्व भारत के अलग-अलग राज्यों में अलग-अलग तरीकों से मनाया जाता है।

यह पर्व विशेष रूप से पश्चिम बंगाल, असम, ओडिशा, त्रिपुरा, मणिपुर बिहार और झारखंड मैं दुर्गा पूजा के नाम से जाना जाता है जबकि बाकी राज्यों में इसे नवरात्रि के रूप में मनाया जाता है।

नवरात्रि पर्व 9 दिनों तक मनाया जाता है इस पर्व को भारतीय लोग बड़ी धूमधम से मनाते हैं इन 9 दिनों में नौ देवियों की पूजा की जाती है।

कई लोग नवरात्रि के 9 दिनों तक उपवास रखकर मां दुर्गा को प्रसन्न करते हैं। और 9 वे दिन नौ कन्याओं की पूजा कर व भोग अर्पित कर अपने व्रत को तोड़ते हैं।

ऐसा कहा जाता है कि नवरात्रि के दिनों में देवियों के दर्शन के लिए मंदिर जाना शुभ माना जाता है। कई लोग इस दिन मां वैष्णो देवी, मां पूर्णागिरि, और अन्य देवियों की यात्रा पर जाते हैं।

जबकि पश्चिम बंगाल, असम, ओडिशा, त्रिपुरा, मणिपुर बिहार और झारखंड मैं इस पर्व को दुर्गा पूजा के नाम से जाना जाता है।

इन राज्यों में दुर्गा पूजा के दौरान मां दुर्गा की विशेष रूप से पूजा-अर्चना की जाती है। लोग दुर्गा पांडालों में जाकर देवी दुर्गा की आराधना करते हैं।

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा

भारत के पश्चिम बंगाल राज्य में दुर्गा पूजा का एक विशेष महत्व है दुर्गा पूजा वहां का प्रसिद्ध त्योहार माना जाता है।

दुर्गा पंडालों में मां दुर्गा, के साथ-साथ सरस्‍वती, लक्ष्‍मी, कार्तिकेय, भगवान गणेश और महिषासुर की मूर्तियों को स्‍थापित किया जाता है।

नवरात्रि के पांचवे या छठे दिन से देवी की पूजा शुरू की जाती है और इस दिन से लोग मां दुर्गा के लिए व्रत भी रखते हैं।

मां दुर्गा को भोग के रूप में  खिचड़ी, पापड़, सब्‍जियां, बैंगन भाजा और रसगुल्‍ला मुख्‍य रूप से भोग के रूप में चढ़ाए जाते हैं।

संधी पूजा

नवरात्रि के आठवें दिन महाष्टमी को दुर्गा पूजा का मुख्य दिन माना जाता है। और रात्रि के समय संधी पूजा की जाती है या पूजा अष्टमी और नवमी दोनों दिन चलती है।

संधी पूजा मैं अष्टमी समाप्त होने के अंतिम 24 मिनट और नवमी प्रारंभ होने के 24 मिनट पहले के समय को संधि क्षण कहते हैं।

पश्चिम बंगाल में संधि पूजा का माहौल देखते ही बनता है चारों तरफ रोने की रौनक होती है।

और वातावरण भक्तिमय बन जाता है।

मां दुर्गा की रोचक कहानी निबंध: Durga Puja Essay in Hindi

उपसंहार

दुर्गा पूजा एक पवित्र त्यौहार है जो सबसे शक्तिशाली देवी दुर्गा को समर्पित है लेकिन इस त्यौहार में कई जगह मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए पशु बलि भी दी जाती है।

जो कि एक अंधविश्वास है बदलते समय के साथ हमे इसे रोकना जरूर होगा नहीं तो हम मां दुर्गा के नाम पर बेजुबान जानवरों को हम अपने स्वार्थ के लिए मारते रहेंगे जो कि एक गलत प्रथा है।

हम मां दुर्गा की आराधना या नवरात्रि का पर्व बिना पशु बलि के भी मना सकते हैं।

जय मां दुर्गा

Conclusion (निष्कर्ष)

Durga Puja Essay in Hindi: आज के इस आर्टिकल में आपने दुर्गा पूजा के बारे में संपूर्ण जानकारी जानी और निबंध भी पढ़ा आशा करता हूं !

आपको यह आर्टिकल पसंद आया होगा इस आर्टिकल को आप अपने दोस्तों को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म में जरुर शेयर करें।

आप हमारे youtube channel FullonFacts को भी सब्सक्राइब कर सकते हैं जहां आपको इंटरेस्टिंग,अमेजिंग और रहस्यमई तथ्य के बारे में वीडियो मिलेंगे।

यह भी पढ़ें 

Pankaj Joshi

हेलो फ्रेंड्स मेरा नाम पंकज जोशी है, में उत्तराखंड के लालकुआं शहर में रहता हूँ ! यह ब्लॉग (FactZilla) मैंने अमेजिंग फैक्ट्स एक्स्प्लोर करने और लोगो को इनके बारे में बताने के लिए बनाया है ! मेरे बारे में और जानने के लिए हमारे About Us पेज को विजिट कर सकते है!

Leave a Reply

This Post Has 2 Comments

  1. shiwani

    This is a very good essay. Please keep writing such essays and we will fully support your work.

  2. Deepak joshi

    Jai maa durga
    Nice information thanks for sharing